होम अवस्थाएँ आँखों की अवस्थाएँ A-Z  |  In English

ग्लूकोमा का उपचार: दवाएँ, ड्रॉप और भी बहुत कुछ

ग्लूकोमा के इलाज के लिए आई ड्रॉप का उपयोग करने वाली महिला

ग्लूकोमा के अधिकांश उपचार आंतराक्षि दाब (IOP) को कम और/या नियंत्रित करने के लिए बनाए गए हैं, जो मस्तिष्क को दृश्य जानकारी पहुँचाने वाली ऑप्टिक तंत्रिका को नुकसान पहुँचा सकता है।

ग्लूकोमा सर्जरी के स्थान पर ग्लूकोमा आई ड्रॉप अक्सर पहली पसंद होते हैं और IOP को नियंत्रित करने में ये बहुत प्रभावी हो सकते हैं। यदि आपके नेत्र चिकित्सक को लगता है कि आप ग्लूकोमा आई ड्रॉप के लिए एक अच्छे उम्मीदवार हैं, तो सबसे अच्छे IOP नियंत्रण को प्राप्त करने के लिए आपको एक से अधिक प्रकार दिए जा सकते हैं।

ग्लूकोमा आई ड्रॉप के प्रकार

ग्लूकोमा आई ड्रॉप को सक्रिय संघटक रसायन द्वारा वर्गीकृत किया जाता है जो दवा के काम करने में सहायक होता है:

प्रोस्टाग्लैडिंस

इन ग्लूकोमा आई ड्रॉप्स में अक्सर सबसे अच्छा उपयोगकर्ता अनुपालन होता है क्योंकि उन्हें रोज़ केवल एक बार डालना होता है। प्रोस्टाग्लैंडिंस आम तौर पर तरल पदार्थ के बेहतर बहिर्वाह की अनुमति देने के लिए आँख की आंतरिक संरचना में मांसपेशियों को शिथिलन में लाकर काम करते हैं, और इस प्रकार आँखों के दबाव के बिल्डअप को कम करते हैं।

ग्लूकोमा के लिए प्रोस्टाग्लैंडीन आई ड्रॉप्स के संभावित दुष्प्रभावों में चुभना और जलन, आँखों के रंग का बदलना और पलकों का लंबा होना और मुड़ना (कर्ल होना) शामिल हैं।

बीटा-ब्लॉकर

ग्लूकोमा आई ड्रॉप्स की अनेक प्रकारों में उपयोग की जाने वालीं, बीटा-ब्लॉकर्स किसी समय में ग्लूकोमा के इलाज में पहली पसंद की दवाएँ थीं। ये दवाएँ आँख में तरल पदार्थ (जलीय) उत्पादन को कम करके काम करती हैं और अब अक्सर प्रोस्टाग्लैंडिंस के साथ या इनके संयोजन के रूप में निर्धारित की जाती हैं।

ये आई ड्रॉप्स हृदय गति को कम करने की क्षमता रखती हैं और कुछ हृदय की समस्याओं, फेफड़ों की समस्याओं (जैसे वातस्फीति), मधुमेह, अवसाद या अन्य स्थितियों वाले व्यक्तियों में प्रतिकूल दुष्प्रभाव पैदा कर सकती हैं। इन कारणों के लिए, सुनिश्चित करें कि बीटा-ब्लॉकर्स का उपयोग करने से पहले आप अपने ऑप्टिशियन के साथ अपने चिकित्सा इतिहास पर विस्तार से चर्चा कर लें।

अल्फ़ा-एड्रीनर्जिक एगोनिस्ट

ये दवाएँ जलीय ह्यूमर उत्पादन की दर घटाकर काम करती हैं और अकेले या अन्य एंटी-ग्लूकोमा आई ड्रॉप्स के संयोजन में उपयोग की जा सकती हैं।

आई ड्रॉप के इस वर्गीकरण से जुड़े आम दुष्प्रभावों में लाल या रक्तवर्ण आँखें (ऑक्यूलर इंजेक्शन), ऊपरी पलक का ऊँचा होना, विस्तारित पुतलियाँ और खुजली शामिल हैं।

कार्बोनिक एनहाइड्रेज़ इनहिबिटर

ये दवाएँ जलीय ह्यूमर उत्पादन की दर घटाकर काम करती हैं। ये आमतौर पर अकेले नहीं बल्कि अन्य एंटी-ग्लूकोमा आई ड्रॉप के साथ संयोजन में उपयोग की जाती हैं। दवा के इस वर्गीकरण का उपयोग मौखिक रूप (गोलियाँ) में भी किया जाता है। कार्बोनिक एनहाइड्रेज इनहिबिटर (सीएआई) आई ड्रॉप के साथ अनुभव होने वाले सामान्य दुष्प्रभावों में जलन, कड़वा स्वाद, पलक में प्रतिक्रिया और आँख में लालिमा शामिल हैं।

लगभग आधे मरीज इसके प्रणालीगत दुष्प्रभावों के कारण मौखिक सीएआई को बर्दाश्त नहीं कर सकते हैं, जिसमें थकान, अवसाद, भूख न लगना, वजन में कमी, कामेच्छा में कमी, गुर्दे की पथरी, धातु जैसा स्वाद और उँगलियों और पैर की उँगलियों में झुनझुनी (परिधीय न्यूरोपैथीज़) शामिल हैं।

पैरासिम्पैथोमिमेटिक्स

ये दवाइयाँ आँख से जलीय ह्यूमर के बहिर्वाह को बढ़ाकर काम करती हैं। वे अक्सर संकीर्ण-कोण मोतियाबिंद में IOP को नियंत्रित करने के लिए उपयोग की जाती हैं। इन आई ड्रॉप्स से पुतली सिकुड़ जाती है, जो संकुचित या अवरुद्ध कोण को खोलने में सहायता करती है, जहाँ जल निकासी होती है।

इन प्रकार की आई ड्रॉप्स के साथ अनुभव होने वाले सामान्य दुष्प्रभावों में भौंह में दर्द, पुतली का संकुचन, जलन और रात में दृष्टि की कमी होना शामिल है।

एपिनेफ्रीन

दवाओं के एपिनेफ्रीन वर्ग का आँख पर दोहरा प्रभाव पड़ता है। ये दवाइयाँ जलीय ह्यूमर उत्पादन की दर को कम करके और आँख से जलीय ह्यूमर के बहिर्वाह को बढ़ाकर काम करती हैं।

आई ड्रॉप के इस वर्गीकरण के साथ अनुभव किए जाने वाले सामान्य दुष्प्रभावों में रंजित आँख की सतह झिल्ली (कंजंक्टिवल) पर जमाव, अवरुद्ध आँसू की नलिकाएँ और हृदय के दर के बढ़ने के साथ धड़कन का बढ़ना है।

हाइपरऑस्मोटिक एजेंट

ये दवाइयाँ आमतौर पर गंभीर रूप से उच्च IOP वाले लोगों के लिए होती हैं, जिसे ऑप्टिक तंत्रिका को स्थायी, अपरिवर्तनीय क्षति पहँचाए जाने से पहले कम किया जाना चाहिए। हाइपऑस्मोटिक एजेंट आँख में तरल की मात्रा को कम करके IOP को कम करते हैं।

आमतौर पर केवल एक बार, आपातकालीन आधार पर दी जाने वाली इन दवाओं में मौखिक ग्लिसरीन और आइसोसॉरबाइड मौखिक रूप से, और मैनिटॉल और यूरिया अंतःशिरा में दिए जाने के लिए शामिल होते हैं।

संयोजन वाली ग्लूकोमा की दवाएँ

ग्लूकोमा वाले अनेक व्यक्तियों में IOP को नियंत्रित करने के लिए एक से अधिक प्रकार की दवा की आवश्यकता होती है। इस कारण से, कुछ नेत्र संबंधी दवा कंपनियों ने "संयोजन" आई ड्रॉप्स का उत्पादन किया है जिसमें एक ही बोतल में दो अलग-अलग एंटी-ग्लूकोमा दवाएँ शामिल हो सकती हैं।

सुविधा के लिए, आपका ऑप्टिशियन संयोजन वाली IOP कम करने वाली दवाओं को लिख सकता है। आमतौर पर, इन संयुक्त दवाओं का IOP को कम करने का योगात्मक प्रभाव होता है।

अपने ऑप्टिशियन से पूछें

सभी विभिन्न प्रकार की ग्लूकोमा दवाओं के उपलब्ध होने के साथ, एक नेत्र चिकित्सक की तलाश करना महत्त्वपूर्ण है, जो आपकी विशेष आवश्यकताओं के लिए सर्वोत्तम प्रकार की दवा प्राप्त करने के लिए ग्लूकोमा के उपचार में माहिर हो।

अपने ऑप्टिशियन से पूछें कि दी जा रही ग्लूकोमा की दवा के प्रकार को समझाएँ, और बताएँ कि यह उपचार आपके लिए सबसे अच्छा क्यों है।

Find Eye Doctor

शेड्यूल आई एग्जाम

ऑप्टिशियन खोजें