दृष्टि उम्र के साथ

मायोपिया - अपने बच्चे की मायोपिया को कैसे नियंत्रित करें

एक युवा भारतीय लड़के को उसकी माँ ने दिलासा दिया है।
Advertisement

यदि आपके बच्चे को मायोपिया (निकटदृष्टिता) है, तो आप शायद सोच रहे होंगे कि क्या इसका कोई उपचार है या कम से कम ऐसा कुछ किया जाए जिससे दृष्टि दोष की बढ़ती हुई समस्या को बढ्ने से रोका जाय ताकि आपके बच्चे को हर प्रतिवर्ष ज़्यादा पावर वाले चश्मे की जरूरत न पड़े ।

एक सरल, बिना लागत वाला कार्य जो आप कर सकते हैं, और  वह है आपके बच्चे को बाहर जाकर खेलने के लिए आप प्रोत्साहित करें । शोध में पाया गया है कि जो बच्चे बहुत अधिक समय तक पढ़ने, पाठ करने या अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों का प्रयोग करने में समय बिताते हैं, उनमें निकटदृष्टिता होने का अधिक खतरा उत्पन्न होता है ।

शोध से यह भी पता चलता है कि बाहर अधिक समय बिताने से मायोपिया (निकटदृष्टिता) होने का खतरा कम होता है ।

क्या अन्य उपचार भी आपके बच्चे में मायोपिया (निकटदृष्टिता) को बढ्ने से रोक सकते हैं या दृष्टि दोष को कम कर सकते हैं ?

मायोपिया (निकटदृष्टिता) की प्रगति को धीमा करने के 3 तरीके :

यद्यपि मायोपिया ( निकट दृष्टि ) का अभीतक उपचार नहीं खोजा गया है, आपका नेत्र चिकित्सक उपचार की पेशकश कर सकता है जो मायोपिया (निकटदृष्टिता) की बढ़ती हुई समस्या को धीमा करने में सक्षम हो सकता है ।

ये उपचार आंख की संरचना और आंख की फोकस  केंद्रित  क्षमताओं  में बदलाव प्रेरित कर तनाव और थकान को कम करते हैं  जो निकटदृष्टिता के विकास और प्रगति से जुड़े है ।

क्यों आपको मायोपिया (निकटदृष्टिता) नियंत्रण में रुचि होनी चाहिए ? क्योंकि मायोपिया (निकटदृष्टिता) की प्रगति को धीमा करने से आपके बच्चे को निकटदृष्टिता के उच्च स्तर तक विकसित  होने से रोका जा सकता है ,जो जीवन में बाद में आंखों की गंभीर समस्याओं से जुड़े हैं, जैसे कि प्रारंभिक मोतियाबिंद की समस्या ।

वर्तमान में, तीन प्रकार के उपचार मायोपिया (निकटदृष्टिता) को नियंत्रित करने का संकेत कर रहे हैं :

•        एट्रोपिन आई ड्रॉप

•        ऑर्थोकार्टोलॉजी ("ऑर्थो-के")

•        मल्टीफ़ोकल कॉन्टेक्ट लेंस और नेत्रों के चश्में ।

यहाँ पर उक्त प्रत्येक उपचार का सारांश दिया गया है :

एट्रोपिन आई ड्रॉप :

एट्रोपिन आई ड्रॉप का उपयोग कई वर्षों से मायोपिया (निकटदृष्टिता) के नियंत्रण के लिए किया जाता रहा है, जो  प्रभावी अल्पकालिक परिणाम के साथ है, लेकिन इन आई ड्रॉप्स के उपयोग में कुछ कमियां भी हैं ।

अध्ययनों के परिणाम में पाया गया कि मायोपिया (निकटदृष्टिता) से बढ़ने को नियंत्रित करने के लिए एट्रोपिन आई ड्रॉप्स प्रभावशाली  हैं  - कम से कम उपचार के पहले वर्ष में / 1989 और 2010 वर्ष के बीच प्रकाशित चार अध्ययनों में पता चला  की निकटदर्शी बच्चों में एट्रोपिन आइ ड्रॉप ने 81 प्रतिशत तक मायोपिया (निकटदृष्टिता ) को बढ़ने से रोक दिया है ।

हालांकि, अतिरिक्त शोध से पता चला है कि एट्रोपिन से मायोपिया (निकटदृष्टिता) में नियंत्रण के प्रभाव से उपचार के पहले वर्ष के बाद जारी नहीं रहता है  और एट्रोपिन का अल्पकालिक प्रयोग लंबे  समय में निकटदृष्टिता को नियंत्रित नहीं कर सकता है ।

हालांकि कई नेत्र चिकित्सक, बच्चों के लिए एट्रोपिन ड्रॉप को निर्धारित करने के लिए सलाह नहीं देते हैं  क्योंकि दवा के निरंतर उपयोग के दीर्घकालिक प्रभाव जो हो सकते हैं वह अज्ञात हैं ।

एट्रोपिन दवा के उपचार की अन्य कमियों में बेचैनी, लाइट सेंसिविटी (प्रकाश संवेदनशीलता), निकट दृष्टि धुंधली होना और बच्चे को स्पष्ट रूप से पढ़ने में सक्षम होने के लिए बाईफोकल्स या प्रोग्रेसिव लेंस की आवश्यकता के अतिरिक्त, धन का व्यय सम्मिलित  हैं; चूंकि उनकी निकट में फोकस  करने की क्षमता प्रभावित होती है ।

ऑर्थोकार्टोलॉजी :

ऑर्थोकार्टोलॉजी विशेष रूप से डिज़ाइन किए गए गैस परमीबल कॉन्टेक्ट लेंस का उपयोग है जो सोते समय पहना जाता है ताकि दृष्टि की समस्याओं को अस्थायी रूप से ठीक किया जा सके जिसके लिये  जागने के घंटों के दौरान चश्मे और कॉन्टेक्ट लेंस की आवश्यकता नहीं होती है ।

कुछ नेत्र चिकित्सक बच्चों में मायोपिया (निकटदृष्टिता) की  प्रगति को नियंत्रित करने के लिए "ऑर्थो-के" लेंस का उपयोग करते हैं । सबूत (ईविडेंस) बताते हैं जो निकटदर्शी बच्चे जो को कई वर्षों तक ऑर्थोकोलॉजी का इस्तेमाल करते है , वयस्कों के रूप में मायोपिया (निकटदृष्टिता) की कम डिग्री के साथ रुक जाते है , उन बच्चों की तुलना में जो मायोपिया (निकटदृष्टिता) की प्रगति के चरम वर्षों के दौरान चश्मा या नियमित कॉन्टेक्ट लेंस पहनते हैं ।

चश्मे में बच्चे क्यूट दिखते हैं ! लेकिन ऑर्थो-के और अन्य मायोपिया (निकटदृष्टिता) नियंत्रण तकनीकों के प्रसार के साथ, कम बच्चों को भविष्य में मायोपिया (निकटदृष्टिता) के लिए चश्मों की आवश्यकता हो सकती है ।

मल्टीफोकल कांटैक्ट लेंसेस एवं चश्में :

मल्टीफ़ोकल कॉन्टेक्ट विशेष लेंसस होते हैं जिनमें लेंस के विभिन्न क्षेत्रों में अलग-अलग पावर होती हैं जो प्रेस्बोपिया, निकटदृष्टिता और / या दूरदृष्टिता को ठीक करती हैं ।

लेकिन शोधकर्ताओं और नेत्र चिकित्सकों को पता चल रहा है कि पारंपरिक या संशोधित मल्टीफोकल सॉफ्ट कॉन्टैक्ट लेंस भी मायोपिया (निकटदृष्टिता) नियंत्रण के लिए प्रभावी उपयोगी उपाय हैं ।

बच्चों में मायोपिया (निकटदृष्टिता) नियंत्रण के लिए मल्टीफ़ोकल चश्मों  का भी परीक्षण किया गया है, लेकिन परिणामस्वरूप  मल्टीफ़ोकल कॉन्टेक्ट लेंस की तुलना में कम प्रभावशाली हैं ।

मायोपिया (निकटदृष्टिता) का जल्दी से पता लगाना :

निकटदृष्टिता का जल्दी से पता लगाने के लिए मायोपिया (निकटदृष्टिता) को नियंत्रित करने का सबसे अच्छा तरीका है ।

यहां तक ​​कि अगर आपके बच्चे को दृष्टि की समस्याओं(-) की शिकायत नहीं है, तो भी आपके बच्चों के लिए नियमित रूप से आंखों का जांच/परीक्षण का समय निर्धारित करना महत्वपूर्ण है ।

बचपन में आंखों की जांच/परीक्षण विशेष रूप से महत्वपूर्ण है यदि आप या आपके पति या पत्नी निकटदृष्टिता से पीड़ित रहे हैं या आपके बच्चे के बड़े भाई-बहनों को मायोपिया (निकटदृष्टिता) या अन्य दृष्टि समस्याएं हैं । आनुवंशिकता ,मायोपिया (निकटदृष्टिता) का एक कारण है ।

और यह न भूले : अपने बच्चों को अपने फोन/मोबाइल और गेमिंग कंसोलस से दूर रहने के लिए प्रोत्साहित करें और बाहर जाकर खेलने को कहें । घर से बाहर अधिक समय व्यतीत करने से आपके बच्चे को मायोपिया (निकटदृष्टिता) विकसित होने की संभावना कम होगी ।

क्या आप अपने बच्चे की मायोपिया (निकटदृष्टिता) के बारे में चिंतित हैं ?तो आप अपने नजदीकी नेत्र चिकित्सक से संपर्क स्थापित करें और इसके उपचारों के विकल्पों के बारे में जानें ।

Advertisement