होम आँखों की देखभाल दृष्टि उम्र के साथ  |  In English

बच्चों और किशोरों के कॉन्टैक्ट लेंस: क्या समय आ चुका है?

कई किशोर अपने चश्मों की जगह कॉन्टैक्ट लेंस चाहते हैं, जिसके पीछे मुख्यतः सौंदर्य संबंधी कारण होते हैं। पर किशोरों के लिए कॉन्टैक्ट लेंस अपनाने के कुछ अन्य अच्छे कारण भी हैं।

ज़्यादातर रिफ्रैक्टिव एरर (अपवर्ती त्रुटियां) कॉन्टैक्ट लेंस की मदद से आसानी से ठीक हो जाती हैं — यहां तक कि एस्टिग्मेटिज़्म (दृष्टि विषमता)भी। अधिकांश मामलों में, किशोरों को कॉन्टैक्ट लेंस से उतना ही अच्छा दिखता है जितना चश्मों से, कभी-कभी तो बेहतर भी दिखता है। चश्मों की तुलना में कॉन्टैक्ट लेंसों से बेहतर परिधीय दृष्टि मिलती है और विरूपण कम होता है, क्योंकि कॉन्टैक्ट लेंस सीधे आंख पर लगे होते हैं, और दृष्टि को सीमित करने वाला फ्रेम होता ही नहीं है।

खेलकूद में भाग लेने वाले किशोरों को कॉन्टैक्ट लेंस ख़ास तौर पर पसंद आएंगे। मनबहलाव वाले खेलों में कॉन्टैक्ट लेंस पहनने से किशोरों को स्पष्ट दृष्टि मिलती है और वे कॉन्टैक्ट लेंसों के ऊपर ज़रूरी सुरक्षात्मक आईवियर  या हेडगियर पहन पाते हैं।

किशोरों को दृष्टि सुधार के लिए चश्मे की बजाय कॉन्टैक्ट लेंस चुनने देने से वे धूप के चश्मों  को अधिक बार पहनने को प्रेरित भी हो सकते हैं। उन्हें प्रेस्क्रिप्शन वाले नज़र के चश्मे और प्रेस्क्रिप्शन वाले धूप के चश्मे को साथ ले कर चलने की बजाय अपने साथ केवल एक धूप का चश्मा रखना पड़ेगा।.

आंखों को सूर्य की हानिकारक पराबैंगनी किरणों  से बचाना, दृष्टि को लंबे समय तक स्वस्थ बनाए रखने के लिए महत्वपूर्ण है।

दैनिक डिस्पोज़ेबल कॉन्टैक्ट लेंस, लेंस देखभाल की ज़रूरत (और लागत) को ख़त्म कर देते हैं

कई माता-पिता को कॉन्टैक्ट लेंस पहनने से जुड़ी देखभाल की मात्रा को लेकर चिंता रहती है। आज, देखभाल के अधिकांश तौर-तरीके काफ़ी सादा हैं। और दैनिक डिस्पोज़ेबल कॉन्टैक्ट लेंस लेंस देखभाल उत्पादों की ज़रूरत पूरी तरह ख़त्म कर सकते हैं।

Expandable

एक और संभावित चिंता कॉन्टैक्ट लेंस के प्रति किशोरों का ज़िम्मेदार होना है। अधिकतर किशोर इतने परिपक्व होते हैं कि वे कॉन्टैक्ट लेंस पहन सकते हैं और उनकी देखभाल कर सकते हैं, पर अपनी किशोर संतान को तो आप ही सबसे अच्छी तरह जानते हैं।

अपनी चिंताओं पर अपनी किशोर संतान और अपने आंखों के डॉक्टर से बात करें। यदि आपके आंखों के डॉक्टर को लगे कि आपकी किशोर संतान अभी तैयार नहीं है, तो वे कॉन्टैक्ट लेंस प्रेस्क्राइब नहीं करेंगे।

साथ ही, यदि आपकी किशोर संतान आपके आंखों के डॉक्टर द्वारा लेंस पहनने की अवधि और लेंस की देखभाल के बारे में दिए गए सुझावों का पालन न कर रही होतो भी कॉन्टैक्ट लेंस का उपयोग रोक देना चाहिए।

जब कॉन्टैक्ट लेंस पहनने की आर्थिक ज़िम्मेदारी का थोड़ा सा बोझ किशोरों पर डाला जाता है, तो अक्सर वे अपने लेंसों की बेहतर देखभाल करते हैं। अपनी संतान से कॉन्टैक्ट लेंस पहनने से संबंधित लागतों के कुछ हिस्से का भुगतान करने को कहने से वह अधिक ज़िम्मेदार बनने को प्रेरित होगी।

कॉन्टैक्ट लेंस किशोरों में आत्मसम्मान बढ़ाते हैं

कुछ किशोरों के लिए कॉन्टैक्ट लेंस पहनने के सबसे बड़े लाभों में से एक लाभ यह है कि इनसे उन्हें अपने बारे में और अपने रंग-रूप के बारे में बेहतर महसूस करने में मदद मिलती है।

दृष्टि सशक्तीकरण को प्रोत्साहित करने हेतु किशोर एवं बाल स्वास्थ्य पहल (एडोलसेंट एंड चाइल्ड हेल्थ इनीशिएटिव टू एनकरेज विज़न एम्पॉवरमेंट, ACHIEVE) अध्ययन* में शोधकर्ताओं ने चश्मा छोड़ कर कॉन्टैक्ट लेंस पहनने वाले बच्चों और युवा किशोरों पर कॉन्टैक्ट लेंस पहनने से पड़ने वाले मनोवैज्ञानिक प्रभावों का तीन वर्षों तक मूल्यांकन किया।

अध्ययन में ज्ञात हुआ कि कॉन्टैक्ट लेंस से बच्चों एवं किशोरों को अपने शारीरिक रंग-रूप को लेकर होने वाले एहसास, दोस्तों के बीच स्वीकार्यता, और खेल खेल सकने की योग्यता में उल्लेखनीय सुधार आया।

विशेष रूप से लड़कियों ने कॉन्टैक्ट लेंस पहनने से अपने आत्मसम्मान में वृद्धि महसूस की। अध्ययन के प्रमुख जांचकर्ता के अनुसार कॉन्टैक्ट लेंस कुछ बच्चों को उनके अकादमिक प्रदर्शन को लेकर भी अधिक आत्मविश्वासी बना सकते हैं।

आंखों का रंग बदलने वाले कॉन्टैक्ट लेंस

रंगीन कॉन्टैक्ट लेंस किशोरों के लिए अपना रंग-रूप बदलने का एक मज़ेदार तरीका हैं।

यदि आपकी किशोर संतान की आंखें नीली या हरी हैं, तो पारदर्शी रंगों वाले कॉन्टैक्ट लेंस उसकी आंखों के रंग को बढ़ा या और तीव्र बना सकते हैं। यदि उसकी आंखें गहरी कत्थई हैं, तो अपारदर्शी रंगों वाले कॉन्टैक्ट लेंस उसकी आंखों के रंग को बदल कर नीला, हरा, बैंगनी, व अन्य तमाम तरह के रंगों का कर सकते हैं।

विशेष प्रभाव वाले कॉन्टैक्ट लेंस हैलोवीन की पार्टियों या अन्य अवसरों के लिए किशोरों की आंखों को देखने में बिल्लियों या किसी अन्य पशु जैसी (यहां तक कि वैम्पायर या अन्य चौंकाने वाले प्राणी जैसी भी) बना सकते हैं।

आपकी किशोर संतान को चाहे जिस भी प्रकार के कॉन्टैक्ट लेंस पहनने हों, सबसे पहले आपके आंखों के डॉक्टर को उसकी आंखें जांच कर यह सुनिश्चित करना चाहिए कि वे स्वस्थ हों और यह कि कॉन्टैक्ट लेंस पहनने से आंखों के सूखेपन से असुविधा होने या अन्य समस्याएं होने का कोई जोख़िम न हो।

इसके बाद, कॉन्टैक्ट लेंस फ़िट करने का कार्य और उसके बाद की देखभाल की जानी चाहिए; इसके बाद ही आपके डॉक्टर एक अंतिम कॉन्टैक्ट लेंस प्रिस्क्रिप्शन जारी कर सकते हैं.

साथ ही, आपकी किशोर संतान को वार्षिक अंतराल पर आंखों की जांच भी करवानी होगी ताकि कॉन्टैक्ट लेंस पहनने के दौरान उसकी दृष्टि और आंखों के स्वास्थ्य पर नज़र रखी जा सके।

*ACHIEVE अध्ययन का प्रायोजन Johnson & Johnson विज़न केयर इंस्टीट्यूट ने किया था।

Find Eye Doctor

शेड्यूल आई एग्जाम

ऑप्टिशियन खोजें