होम अवस्थाएँ |  In English

IOLs: मोतियाबिंद सर्जरी के लिए सबसे अच्छा इंट्राओकुलर लेंस प्रकार चुनना

इंट्राओकुलर लेंस (IOL) ऐसे चिकित्सा उपकरण हैं जो मोतियाबिंद सर्जरी के दौरान हटाए जाने पर आंख के प्राकृतिक लेंस को बदलने के लिए आंख के अंदर इम्प्लांट किए जाते हैं।IOLs का उपयोग एक प्रकार की दृष्टि सुधार सर्जरी के लिए भी किया जाता है जिसे रिफ्रैक्टिव लेंस एक्सचेंज कहा जाता है।

इंट्राओकुलर लेंस के उपयोग से पहले, यदि आपका मोतियाबिंद हटा दिया गया था, तो मोतियाबिंद सर्जरी के बाद स्पष्ट रूप से देखने के लिए आपको बहुत मोटे चश्मे या विशेष कॉन्टैक्ट लेंस पहनने थे, क्योंकि प्राकृतिक लेंस की फोकसिंग पावर को बदलने के लिए आंखों में किसी भी उपकरण को इम्प्लांट नहीं किया गया था।

आज आपके चुनने के लिए कई तरह के प्रीमियम IOL उपलब्ध हैं। आपके लिए सबसे अच्छा इंट्राओकुलर लेंस आपकी जीवन शैली और आपकी विशिष्ट दृश्य आवश्यकताओं सहित कई कारकों पर निर्भर करता है।

वर्तमान में उपलब्ध प्रीमियम IOL का अवलोकन निम्नलिखित है। एनएचएस के साथ, आपको आमतौर पर मोनोफोकल लेंस की पेशकश की जाएगी, जिसमें फोकस का एकल बिंदु होता है। इसका मतलब है कि लेंस या तो निकट दृष्टि के लिए फिक्स किया जाएगा या फिर दूर की दृष्टि के लिए, लेकिन दोनों के लिए नहीं।

यदि आप निजी तौर पर जाते हैं, तो आपको IOL के व्यापक चयन में से एक का चयन करने में सक्षम होना चाहिए और अपने प्रीऑपरेटिव परीक्षण और परामर्श के दौरान, आपका मोतियाबिंद सर्जन आपकी आवश्यकताओं के लिए सबसे अच्छा IOL और इसके साथ अतिरिक्त मोतियाबिंद सर्जरी की लागत चुनने में मदद कर सकता है यदि आप निम्नलिखित प्रीमियम लेंस इम्प्लांट्स में से एक को चुनते हैं।

एस्फेरिक IOLs

पारंपरिक इंट्राओकुलर लेंस में एक गोलाकार ऑप्टिकल डिजाइन होता है, जिसका अर्थ है कि सामने की सतह लेंस के केंद्र से उसके परिधि तक समान रूप से घुमावदार होती है। यद्यपि एक गोलाकार IOL का निर्माण करना अपेक्षाकृत आसान होता है, यह डिज़ाइन आंख के अंदर प्राकृतिक लेंस के आकार की नकल नहीं करता है, जो केंद्र से परिधि तक वक्रता में भिन्न होता है। दूसरे शब्दों में, आंख का प्राकृतिक लेंस एस्फेरिक है ("गोलाकार नहीं")।

यह महत्वपूर्ण क्यों है?

एक गोलाकार इंट्राओकुलर लेंस, उच्च-क्रम अपघटनों (HOAs) नामक मामूली ऑप्टिकल खामियों को प्रेरित कर सकता है, जो दृष्टि की गुणवत्ता को प्रभावित कर सकती हैं, विशेष रूप से कम-प्रकाश वाली स्थितियों में जैसे रात में ड्राइविंग।

दूसरी ओर, प्रीमियम एस्फेरिक IOLs, आंख के प्राकृतिक लेंस के आकार और ऑप्टिकल गुणवत्ता के साथ अधिक निकटता से मेल खाते हैं, और इस तरह तेज दृष्टि प्रदान कर सकते हैं — विशेष रूप से कम रोशनी की स्थितियों में और बड़ी पुतलियों वाले लोगों के लिए।

टॉरिक IOLs

टोरिक IOLs प्रीमियम इंट्राओकुलर लेंस होते हैं जो दृष्टि विषमता के साथ-साथ निकटदृष्टिता दोष या दूरदृष्टिता दोष को ठीक करते हैं.

टोरिक सॉफ्ट कॉन्टैक्ट लेंस की तरह, टोरिक IOLs दृष्टि विषमता को सही कर सकता है क्योंकि लेंस के विभिन्न मेरिडियन्स में उनकी अलग-अलग पॉवर्स होती हैं। उनमें लेंस के परिधीय भाग पर संरेखण के निशान भी लगे होते हैं जो सर्जन को इष्टतम दृष्टिवैषम्य सुधार के लिए आंख के अंदर IOL के उन्मुखीकरण को समायोजित करने में सक्षम करते हैं।

मोतियाबिंद सर्जरी से ठीक पहले, सर्जन रोगी के कॉर्निया पर अस्थायी निशान लगाता है जो आंख के सामने के सबसे घुमावदार मेरिडियन के स्थान की पहचान करता है। उसके बाद, जब मोतियाबिंद प्रक्रिया के दौरान टॉरिक IOL को इम्प्लांट किया जाता है, तो सर्जन IOL को घुमाता है ताकि IOL पर लगे निशानों को, उचित दृष्टि- विषमता सुधार को सुनिश्चित करने के लिए, कॉर्निया के निशान के साथ संरेखित किया जाए।

टॉरिक IOLs लगाने से पहले, मोतियाबिंद सर्जन को मोतियाबिंद सर्जरी के दौरान या बाद में दृष्टि-विषमता को ठीक करने के लिए एक प्रक्रिया कॉल लिम्बल रिलैक्सिंग इनसिज़न्स (एलआरआई, LRI) को करना पड़ता था।

एलआरआई में, कॉर्निया के विपरीत छोरों पर छोटे चीरें लगाए जाते हैं, कॉर्निया और आसपास के सफेद श्वेतपटल के बीच के संगम के पास। जब ये चीरे ठीक हो जाते हैं, तो कॉर्निया आकार में अधिक गोलाकार हो जाता है, दृष्टिवैषम्यता को कम या समाप्त कर देता है।

कुछ मामलों में — यहां तक ​​कि जब एक टॉरिक IOL का उपयोग किया जाता है — दृष्टि-विषमता को पूरी तरह से ठीक करने के लिए मोतियाबिंद सर्जरी के बाद लिंबल रिलैक्सिंग चीरों की आवश्यकता हो सकती है। लेकिन आम तौर पर ऐसे मामलों में, टॉरिक IOL को इम्प्लांट करने के बाद बाकी की दृष्टि-विषमता की मात्रा काफी कम हो जाती है, जिससे बेहतर एलआरआई परिणाम की संभावना अधिक होती है।

LASIK और पीआरके (PRK) को शेष दृष्टि-विषमता को ठीक करने के लिए मोतियाबिंद सर्जरी के बाद भी किया जा सकता है, लेकिन टॉरिक IOLs से इन अतिरिक्त सर्जरी प्रक्रियाओं की आवश्यकता की संभावना कम हो जाती है।

सरल प्रकृति वाले IOLs

पारंपरिक गोलाकार IOLs मोनोफ़ोकल लेंस होते हैं, जिसका अर्थ है कि वे एकल केंद्र बिंदु पर स्पष्ट दृष्टि प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं (उदाहरण के लिए, अच्छी ड्राइविंग दृष्टि के लिए आमतौर पर बहुत दूर)। पारंपरिक IOLs के साथ, आमतौर पर आपको कंप्यूटर का उपयोग करने, बांह की लंबाई के भीतर अन्य नज़दीकी कार्यों को पढ़ने या करने के लिए चश्मे या कॉन्टैक्ट लेंस पहनने पड़ताे है।

सरल प्रकृति वाले IOLs, प्रीमियम इंट्रोक्युलर लैंस होते हैं जो एस्फेरिक डिज़ाइन और लचीले "हाप्टिक्स" — सहायक पैर जो आंख के अंदर IOL को पकड़ते हैं, दोनों के साथ स्पष्ट दृष्टि की सीमा का विस्तार करते हैं।

ये लचीले पैर, इस सरल प्रकृति वाले IOL को थोड़ा आगे बढ़ने की अनुमति देते हैं जब आप निकट की वस्तुओं को देखते हैं, जो एक पारंपरिक मोनोफोकल लेंस की तुलना में बेहतर निकटदृष्टिता प्रदान करने के लिए आंख की फोकसिंग पॉवर को बढ़ाते है।

ये सरल प्रकृतिवाले IOLs निकटदृष्टिता के लिए आवर्धन का वही स्तर प्रदान नहीं कर सकते हैं जो एक मल्टीफ़ोकल IOL करता है। लेकिन बहुत से लोग पाते हैं कि ये प्रीमियम IOLs, मोतियाबिंद सर्जरी के बाद पढ़ने के चश्मों या कंप्यूटर चश्मे पहनने की उनकी आवश्यकता को बहुत कम कर देते हैं, जबकि वैसी ही असाधारण स्पष्ट दूरदृष्टिता प्रदान करते हैं जैसी मोनोफोकल IOL द्वारा प्रदान की जाती है।

मल्टीफ़ोकल IOLs

मल्टीफ़ोकल IOLs, प्रेस्बोपिया-सुधार करने वाले IOLs की एक और श्रेणी है जो मोतियाबिंद सर्जरी के बाद पढ़ने वाले चश्मे या कंप्यूटर चश्मे पहनने की आपकी आवश्यकता को कम कर सकते हैं।

मल्टीफोकल कॉन्टैक्ट लेंस की तरह, इन प्रीमियम IOLs में आपकी दृष्टि की सीमा का विस्तार करने के लिए लेंस के विभिन्न भागों में अतिरिक्त आवर्धन होता है ताकि आप बिना चश्मे या कॉन्टेक्ट लेंस के सभी दूर की वस्तुओं को स्पष्ट रूप से देख सकें।

कुछ अध्ययनों से पता चला है कि मल्टीपल IOLs, सरल प्रकृतिवाले IOLs की तुलना में बेहतर निकटदृष्टिता प्रदान करते हैं, लेकिन उनमें सामंजस्य बिठाने के रूप में चकाचौंध या हल्की धुंधली दूरदृष्टिता का कारण बनने की भी अधिक संभावना होती हैं।

आपका मोतियाबिंद सर्जन यह तय करने में आपकी मदद कर सकता है कि क्या आप अपने ऑपरेशन-पूर्व परीक्षण और परामर्श में मल्टीफोकल IOLs के लिए अच्छे उम्मीदवार हैं।

यदि आप मल्टीफ़ोकल IOLs में रुचि रखते हैं, तो लेजर मोतियाबिंद सर्जरी की अक्सर सिफारिश की जाती है, क्योंकि सभी दूरियों पर सबसे अच्छा दृश्य परिणाम देने के लिए इन लेंसों का सटीक संरेखण बहुत महत्वपूर्ण है।

मोनोविज़न

प्रेस्बायोपिया को ठीक करने के लिए सरल-प्रकृतिवाले और मल्टीफ़ोकल IOLs का एक विकल्प मोनोविज़न है।

"मोनोविज़न IOL" जैसी कोई चीज नहीं है। मोनोविज़न एक आँख की रिफ्रैक्टिव त्रुटि को पूरी तरह से सही करने और उद्देश्यपूर्ण दूसरी आँख को हल्का निकटदृष्टिता वाली बनाने की एक तकनीक है।

इस परिदृश्य में, पूरी तरह से ठीक आँख दूर की वस्तुओं को स्पष्ट रूप से देखती है (लेकिन चश्मे के बिना निकट की वस्तुओं को बहुत अच्छी तरह से नहीं देख पाती), और हल्के दूरदृष्टिता-दोष वाली आँख चश्मे के बिना निकट की वस्तुओं को बहुत अच्छी तरह से देखती है (लेकिन दूर की वस्तुओं को इतने स्पष्ट रूप से नहीं)।

पहली बार जब आप इसके बारे में सुनते हैं, तो मोनोवेशन अजीब लग सकता है, लेकिन कई वर्षों से कॉन्टैक्ट लेंस के साथ इस तकनीक का उपयोग बहुत सफलतापूर्वक किया गया है। और सर्जरी के बाद पढ़ने वाला चश्मा और कंप्यूटर चश्मा पहनने की व्यक्ति की निर्भरता को कम करने के लिए, यह अब मोतियाबिंद सर्जरी के साथ अक्सर इस्तेमाल की जा रही है।

प्रीमियम IOLs के किसी भी संयोजन का उपयोग मोनोविज़न मोतियाबिंद सर्जरी के लिए किया जा सकता है।

जब सरल-प्रकृति वाले या मल्टीफ़ोकल IOLs का उपयोग मोनोविज़न के लिए किया जाता है, तो "संशोधित मोनोविज़न" शब्द का उपयोग अक्सर किया जाता है, क्योंकि ये लेंस एक निर्धारित मोनोविजन प्रभाव के अलावा, अपने डिजाइन की प्रकृति द्वारा दृष्टि की एक विस्तारित सीमा प्रदान करते हैं।

प्रत्येक आंख के लिए एक अलग प्रकार का IOL

कभी-कभी, मोतियाबिंद सर्जरी के बाद सबसे अच्छा दृश्य परिणाम, प्रत्येक आंख में एक अलग प्रकार के प्रीमियम IOL का उपयोग करके प्राप्त किया जाता है।

उदाहरण के लिए, आपकी एक आंख में दूसरे की तुलना में अधिक दृष्टि विषमता हो सकती है। यदि ऐसी स्थिति है, तो आपका मोतियाबिंद सर्जन उस आंख में टॉरिक IOL की, और शायद दूसरी आंख में सरल-प्रकृतिवाले IOL की सिफारिश कर सकता है ताकि कंप्यूटर चश्मे के लिए आपकी आवश्यकता को कम किया जा सके।

आपके मोतियाबिंद सर्जन के लिए एक अन्य परिदृश्य, एक आंख के लिए मल्टीफोकल लेंस के एक ब्रांड और दूसरी आंख के लिए एक अलग ब्रांड की सिफारिश करना है। ऐसा इसलिए है क्योंकि एक ब्रांड बेहतर कंप्यूटर विज़न प्रदान कर सकता है और दूसरा रीडिंग और अन्य नज़दीकी कार्यों के लिए तीक्ष्ण दृष्टि प्रदान कर सकता है।

आपका मोतियाबिंद सर्जन आपके ऑपरेशन-पूर्व परीक्षण और परामर्श के दौरान आपकी विशिष्ट आवश्यकताओं का पूरी तरह से मूल्यांकन कर सकता है, और आपको एक सफल दृष्टि परिणाम के लिए प्रीमियम IOLs का सबसे अच्छा संयोजन चुनने में मदद करता है।

प्रीमियम IOLs की लागत

प्रीमियम IOLs में ऐसी अतिरिक्त विशेषताएं होती हैं जो पारंपरिक मोनोफोकल IOLs में नहीं होती और इसकी लागत पारंपरिक IOLs की तुलना में अधिक होती है।

दुर्भाग्य से, एनएचएस और कुछ बीमा कंपनियां इन अतिरिक्त सुविधाओं को चिकित्सा आवश्यकताओं के रूप में नहीं मानती हैं। इसलिए यदि आप एक प्रीमियम IOL चुनते हैं, तो आप अपनी मोतियाबिंद सर्जरी के लिए अतिरिक्त जेब खर्च करेंगे।

अपनी मोतियाबिंद सर्जरी की लागत और कवरेज को पूरी तरह से समझने के लिए, सर्जरी करवाने से पहले आप अपनी बीमा पॉलिसी की शर्तों को ध्यान से देखें। बाद के अप्रिय वित्तीय आश्चर्यों से बचने के लिए, सर्जरी के लिए सहमति देने से पहले अपने ऑप्टिशियन और मोतियाबिंद सर्जन से लागत से संबंधित प्रश्न पूछें।

मोतियाबिंद सर्जरी का समय तय करवाने को तैयार हैं? अपने पास के एक मोतियाबिंद सर्जन का पता लगाएं। हमारे नेत्र देखभाल खोजी के ऊपरी दायें भाग में दिए गए सेवाएं फ़िल्टर का उपयोग करके अपने इलाके के मोतियाबिंद सर्जन ढूंढें।

Find Eye Doctor

शेड्यूल आई एग्जाम

ऑप्टिशियन खोजें