होम आँखों की देखभाल

कॉन्टैक्ट लेंस के प्रकार और सामग्री

कॉन्टैक्ट लेंस लगाती महिला

कॉन्टैक्ट लेंस लगभग हर ऐसे व्यक्ति के लिए एक उत्कृष्ट विकल्प है, जिसे दृष्टि सुधार की आवश्यकता है और वह पूरे समय चश्मा नहीं पहनना चाहता है या सर्जरी नहीं कराना चाहता है.

यहां कॉन्टैक्ट लेंस के बारे में कुछ बुनियादी बातें दी गई हैं जिनके बारे में आपको अपने ऑप्टिशियन से मिलने से पहले पता होना चाहिए (यदि आप कॉन्टैक्ट्स पहनने में रुचि रखते हैं)।

कॉन्टैक्ट लेंस सामग्री

कॉन्टैक्ट लेंस पर विचार करते समय पहली पसंद यह होती है कि कौन सी लेंस सामग्री आपकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी। पांच प्रकार के कॉन्टैक्ट लेंस होते हैं, जो उस लेंस सामग्री के प्रकार पर आधारित होते हैं जिससे वे बने होते हैं:

सॉफ्ट लेंस

सॉफ्ट कॉन्टैक्ट लेंस जेल जैसे, पानी युक्त प्लास्टिक से बने होते हैं जिसे हाइड्रोजेल कहा जाता है। ये लेंस बहुत पतले और लचीले होते हैं और आँख की आगे की सतह के अनुरूप होते हैं।

सिलिकॉन हाइड्रोजेल लेंस

सिलिकॉन हाइड्रोजेल लेंस एक उन्नत प्रकार की सॉफ्ट कॉन्टैक्ट लेंस सामग्री से बने होते हैं जो अधिक ऑक्सीजन को लेंस से गुजरने और आँख की आगे की सतह तक पहुंचने देती है। सिलिकॉन हाइड्रोजेल कॉन्टैक्ट लेंस अब सबसे लोकप्रिय प्रकार के कॉन्टैक्ट लेंस हैं।

गैस पारगम्य लेंस

गैस पारगम्य कॉन्टैक्ट लेंस, जिन्हें जीपी या आरजीपी लेंस भी कहा जाता है, कठोर कॉन्टैक्ट लेंस होते हैं जो आँख पर अपना आकार बरकरार रखते हैं, उन्हें एस्टिग्मेटिज़्म और अन्य रेफ्रेक्टिव त्रुटियों को सही करने में सक्षम बनाते हैं।

गैस पारगम्य कॉन्टैक्ट लेंस आमतौर पर सॉफ्ट लेंस की तुलना में व्यास में छोटे होते हैं और अत्यधिक ऑक्सीजन-पारगम्य सामग्रियों से बने होते हैं।

जीपी लेंस को समायोजित करने के लिए आमतौर पर आपकी आँखों को कुछ समय लगता है जब आप पहली बार उन्हें पहनना शुरू करते हैं, लेकिन इस प्रारंभिक अनुकूलन अवधि के बाद, अधिकांश लोग पाते हैं कि जीपी लेंस सॉफ्ट लेंस के रूप में आरामदायक हैं।

हाइब्रिड कॉन्टैक्ट लेंस

हाइब्रिड कॉन्टैक्ट लेंस में कठोर गैस पारगम्य केंद्रीय क्षेत्र होता है, जो हाइड्रोजेल या सिलिकॉन हाइड्रोजेल सामग्री की "किनारी" से घिरा होता है। वे पहनने में जीपी लेंस के क्रिस्टल-क्लियर ऑप्टिक्स के साथ-साथ सॉफ्ट या सिलिकॉन हाइड्रोजेल लेंस जैसा ही आराम प्रदान करने के हिसाब से डिज़ाइन किए जाते हैं।

एमएमए लेंस

एमएमए कॉन्टैक्ट लेंस कठोर कॉन्टैक्ट लेंस होते हैं जो जीपी लेंस की तरह दिखते हैं लेकिन प्लास्टिक की सामग्री से बने होते हैं जो ऑक्सीजन पारगम्य नहीं होती है। पीएमएमए लेंस आमतौर पर वर्षों पहले नुस्खे में लिखे जाते थे, लेकिन अब अनिवार्य रूप से गैस पारगम्य लेंस द्वारा प्रतिस्थापित किए जा चुके हैं।

कॉन्टैक्ट लेंस पहनने का समय

पहनने के समय के अनुशंसित आधार पर कॉन्टैक्ट लेंस की दो श्रेणियां हैं:

  • डेली वियर कॉन्टैक्ट लेंस - रात को सोने से पहले इन्हें जरूर हटा देना चाहिए।

  • एक्सटेंडेड वियर कॉन्टैक्ट लेंस - इन्हें रात भर (सीमित दिनों के लिए) पहना जा सकता है।

"निरंतर पहनना" वह शब्द है जो कभी-कभी एक्सटेंडेड वियर वाले लेंस का वर्णन करने के लिए उपयोग किया जाता है जिन्हें लगातार 30 दिनों तक प्रति दिन 24 घंटे पहना जाता है।

अपने कॉन्टैक्ट लेंस को कब बदलें

यहां तक कि उचित देखभाल के बावजूद, लेंस पर डिपॉजिट की जमावट और संदूषण के जोखिम को रोकने के लिए कॉन्टैक्ट लेंस (विशेष रूप से, सॉफ्ट कॉन्टैक्ट्स) को अक्सर प्रतिस्थापित करते रहना चाहिए ताकि आँख के संक्रमणों के जोखिम से बच सकें.

सॉफ्ट लेंस में ये सामान्य वर्गीकरण होते हैं, इस आधार पर कि उन्हें कितनी जल्दी-जल्दी त्याग दिया जाना चाहिए:

  • दैनिक डिस्पोजेबल लेंस - पहनने के एक दिन बाद ही त्याग दें

  • डिस्पोजेबल लेंस - हर दो सप्ताह में, या जितनी जल्दी हो सके त्याग दें

  • अक्सर प्रतिस्थापन लेंस - मासिक या त्रैमासिक रूप से त्यागें

  • पारंपरिक (पुनः प्रयोज्य) लेंस - हर छह महीने या उससे अधिक समय के बाद त्याग दें

गैस पारगम्य कॉन्टैक्ट लेंस, लेंस में जमावट रोकने के लिए अधिक प्रतिरोधी होते हैं और उन्हें सॉफ्ट लेंस की तरह जल्दी-जल्दी त्यागने की आवश्यकता नहीं होती है। अक्सर, जीपी लेंस, बदलने की आवश्यकता से पहले एक साल या उससे अधिक समय तक चल सकते हैं।

कॉन्टैक्ट लेंस डिजाइनें

सॉफ्ट कॉन्टैक्ट लेंस (हाइड्रोजेल और सिलिकॉन हाइड्रोजेल लेंस, दोनों) उनके इच्छित उद्देश्य के आधार पर विभिन्न प्रकार की डिजाइनों में उपलब्ध हैं:

  • मायोपिया (निकट दृष्टि-दोष) या हाइपरोपिया (दूर दृष्टि-दोष) को ठीक करने के लिए गोलाकार कॉन्टैक्ट लेंस में लेंस के पूरे ऑप्टिकल भाग में समान लेंस पॉवर होती है।

  • टोरिक सॉफ्ट कॉन्टैक्ट लेंस में एस्टिग्मेटिज़्म के साथ-साथ निकट दृष्टि-दोष या दूर दृष्टि-दोष को ठीक करने लिए लेंस के विभिन्न मेरिडियन्स में अलग-अलग पॉवर होती हैं।

  • मल्टीफ़ोकल कॉन्टैक्ट लेंस (बाइफ़ोकल कॉन्टैक्ट्स सहित) प्रेसबायोपिया (जरा दूरदृष्टि) के साथ-साथ निकट दृष्टि दोष या दूरदृष्टि दोष को सही करने के लिए निकट और दूर दृष्टि के लिए अलग-अलग पावर जोन वाले होते हैं। कुछ मल्टीफोकल लेंस एस्टिग्मेटिज़्म को भी ठीक कर सकते हैं।

  • कॉस्मेटिक कॉन्टैक्ट लेंस में शामिल हैं कलर कॉन्टैक्ट्स जो आपकी आँख का रंग बदलने या उसे बढ़ाने के लिए डिज़ाइन किए गए हैं। हेलोवीन, नाटकीय और अन्य विशेष-प्रभाव वाले कॉन्टैक्ट्स भी कॉस्मेटिक लेंस माने जाते हैं। कॉस्मेटिक कॉन्टैक्ट्स के लिए कॉन्टैक्ट लेंस प्रिस्क्रिप्शन की आवश्यकता होती है, भले ही आपको कोई अपवर्तक (रेफ्रेक्टिव) त्रुटियां जिनमें सुधार की जरूरत है, न हों।

ये सभी लेंस हार्ड-टू-फिट आँखों के लिए अनुकूलित किए जा सकते हैं। अन्य लेंस डिजाइन भी उपलब्ध हैं - विशेष स्थितियों में उपयोग के लिए गढ़े गए लेंस, जैसे केराटोकोनस को सही करने के लिए।

अधिक कॉन्टैक्ट लेंस सुविधाएँ

एस्टिग्मेटिज़्म के लिए बाईफोकल कॉन्टैक्ट्स। ये उन्नत सॉफ्ट कॉन्टैक्ट्स हैं जो प्रेसबायोपिया और एस्टिग्मेटिज़्म दोनों को सही करते हैं, इसलिए आप 40 वर्ष की आयु के बाद भी चश्मा मुक्त रह सकते हैं, भले ही आपको एस्टिग्मेटिज़्म हो।

सूखी आँखों के लिए कॉन्टैक्ट्स। क्या आपके कॉन्टैक्ट्स असुविधाजनक रूप से सूखे हैं? कुछ सॉफ्ट कॉन्टैक्ट लेंस कॉन्टैक्ट लेंस-संबंधी ड्राई आई के लक्षणों के जोखिम को कम करने के लिए विशेष रूप से बनाए जाते हैं।

रंगीन लेंस। ऊपर वर्णित कई प्रकार के लेंस रंगों में भी आते हैं जो आपकी आँखों के प्राकृतिक रंग को बढ़ा सकते हैं - अर्थात, उदाहरण के लिए, आपकी हरी आँखों को और भी हरा बनाना। अन्य रंगीन लेंस आपकी आँखों का रंग पूरी तरह से बदल सकते हैं, जैसे कि भूरे से नीले रंग में।

विशेष प्रभाव वाले लेंस। इसे नाटकीय, नवीनता, या कॉस्टयूम लेंस भी कहा जाता है, विशेष-प्रभाव वाले कॉन्टैक्ट्स आपको एक बिल्ली, पिशाच जैसा दिखने के लिए या आपकी पसंद का ऑल्टर-इगो बनाने के लिए रंगाई को एक कदम आगे ले जाते हैं।

प्रोस्थेटिक लेंस। रंगीन कॉन्टैक्ट लेंस का उपयोग अधिक चिकित्सीय-उन्मुख उद्देश्यों के लिए भी किया जा सकता है। अपारदर्शी सॉफ्ट लेंस जिन्हें प्रोस्थेटिक कॉन्टैक्ट्स कहा जाता है, एक ऐसी आँख के लिए जो चोट या रोग से विरूपित हो गई है, उसके विरूपण को छुपाने के लिए और दूसरी अप्रभावित आँख की दिखावट से मेल करने के लिए, कस्टम-डिज़ाइन किए जा सकते हैं।

कस्टम लेंस। यदि पारंपरिक कॉन्टैक्ट लेंस आपके लिए काम नहीं करते हैं, तो आप कस्टम कॉन्टैक्ट लेंस के लिए एक उम्मीदवार हो सकते हैं, जिन्हें आपकी व्यक्तिगत आँखों के आकार और दृष्टि संबंधी जरूरतों के लिए ऑर्डर करके बनाया जाता है।

यूवी-अवरोधक लेंस। कुछ सॉफ्ट कॉन्टैक्ट लेंस आपकी आँखों को सूर्य की पराबैंगनी किरणों से रक्षा करने में मदद कर सकते हैं जो मोतियाबिंद और आँखों की अन्य समस्याओं में योगदान करते हैं। लेकिन क्योंकि कॉन्टैक्ट्स आपकी पूरी आँख को कवर नहीं करते हैं, आपको घर के बाहर सूर्य से सबसे अच्छी सुरक्षा के लिए अभी भी यूवी-अवरोधक धूप का चश्मा पहनना चाहिए।

स्क्लेरल लेंस। बड़े व्यास वाले गैस पारगम्य लेंस, जिन्हें स्क्लेरल कॉन्टैक्ट्स कहा जाता है, को विशेष रूप से केराटोकोनस और अन्य कॉर्नियल अनियमितताओं, साथ ही साथ प्रेस्बोपिया के इलाज के लिए डिज़ाइन किया गया है।

ट्रान्जिशन्स एक्यूव्यू प्रकाश-अनुकूल कॉन्टैक्ट लेंस। सबसे नए प्रकार के कॉन्टैक्ट लेंस लोगों को उजले और अन्य "परेशान करने वाले" प्रकाश से तालमेल बैठाने में मदद करने के लिए ट्रांजिशन प्रकाश-अनुकूल तकनीक स्थापित करते हैं। 2019 की शुरुआत में अमेरिका और कनाडा में पेश किए गए, एक्यूव्यू ओएसिस विद ट्रान्जिशन्स को टाइम के "2018 के सर्वश्रेष्ठ आविष्कारों" में से एक नामित किया गया था।

मायोपिया नियंत्रण कॉन्टैक्ट्स। बच्चों में निकट दृष्टि-दोष की प्रगति को धीमा करने या रोकने के लिए विशेष कॉन्टैक्ट लेंस विकसित किए जा रहे हैं।

आपके लिए कौन से कॉन्टैक्ट लेंस सही हैं?

ऐसे कई कारक हैं जो इस बात को प्रभावित कर सकते हैं कि कौन से कॉन्टैक्ट लेंस आपके लिए सर्वश्रेष्ठ हैं:

  1. कॉन्टैक्ट लेंस को उस समस्या का अवश्य समाधान करना चाहिए जो आपको पहली बार लेंस पहनने के लिए प्रेरित कर रही है। आपके कॉन्टैक्ट लेंस को आपके निकट दृष्टि-दोष, दूर दृष्टि-दोष, एस्टिग्मेटिज़्म, या उन दृष्टि समस्याओं के कुछ संयोजन को सही करके अच्छी दृष्टि प्रदान करनी चाहिए।

  2. लेंस को आपकी आँखों में फिट होना चाहिए। ऐसा करने के लिए, लेंस दसियों हजार व्यास और वक्रता के संयोजनों में आते हैं। बेशक, हर लेंस ब्रांड के पास आपकी आवश्यकता वाला आकार नहीं होगा।

  3. आपकी कोई विशेष आवश्यकता हो सकती है जिसके हिसाब से आप लेंस पसंद करते हैं। उदाहरण के लिए, आपका ऑप्टिशियन एक विशेष प्रकार के कॉन्टैक्ट लेंस की सिफारिश कर सकता है, यदि आपकी आँखें सूख रही हैं।

  4. कॉन्टैक्ट लेंस विशेषताओं की अपनी "इच्छा सूची" पर विचार करें - उदाहरण के लिए, रंग, या रात भर पहनने के लिए।

अपनी विशिष्ट आवश्यकताओं के लिए सर्वश्रेष्ठ कॉन्टेक्स लेंस सामग्री और डिज़ाइन को निर्धारित करने के लिए अपने ऑप्टिशियन से परामर्श करें।

कॉन्टैक्ट लेंस पहनना और देखभाल करना

अपने कॉन्टक्ट लेंस की देखभाल करना - सफाई, कीटाणुरहित करना और उन्हें संग्रहीत करना - काफी सरल है।

अधिकांश लोगों को अपने लेंस को साफ, कीटाणुरहित और सुरक्षित रूप से संग्रहीत करने के लिए केवल एक बहुउद्देशीय समाधान की आवश्यकता होती है।

जो लोग बहुउद्देशीय समाधानों में प्रेज़र्वेटिव्स के प्रति संवेदनशील हैं, उन्हें प्रेज़र्वेटिव मुक्त प्रणालियों की आवश्यकता हो सकती है, जैसे कि हाइड्रोजन पैरॉक्साइड युक्त।

आपका ऑप्टिशियन एक लेंस देखभाल प्रणाली की सिफारिश करेगा। निर्देशों का ध्यान से पालन करना सुनिश्चित करें।

बेशक, आप लेंस की देखभाल से पूरी तरह से बच सकते हैं, दैनिक डिस्पोजेबल कॉन्टैक्ट लेंस पहनकर।

कॉन्टैक्ट लेंस की समस्याएं

यदि आप कॉन्टैक्ट लेंस पहनते समय असुविधा या खराब दृष्टि का अनुभव करते हैं, तो संभावना है कि लेंस का समायोजन या परिवर्तन मदद कर सकता है।

आज, आराम, अच्छी दृष्टि और स्वस्थ आँखें प्रदान करने के लिए पहले से कहीं अधिक कॉन्टैक्ट लेंस विकल्प उपलब्ध हैं। यदि आपकी आँखें या लेंस असुविधाजनक हैं या आप अच्छी तरह से नहीं देख पा रहे हैं, तो अपने लेंस को हटा दें और अपने ऑप्टिशियन से तुरंत परामर्श करें।

कॉन्टैक्ट लेंस खरीदना

आपको वैध कॉन्टैक्ट लेंस प्रिस्क्रििप्शन मिल जाने के बाद, आप कई स्थानों पर प्रतिस्थापन कॉन्टैक्ट लेंस खरीद सकते हैं।

Find Eye Doctor

शेड्यूल आई एग्जाम

ऑप्टिशियन खोजें