होमकॉन्टैक्ट लेंस ककॉन्टैक्ट लेंस प्रकार | In English

कॉन्टैक्ट लेंस तथ्य और मिथक

1. मैं कॉन्टैक्ट लेंस नहीं पहन सकता/ती।

इतने सुनिश्चित न हों। हाल के वर्षों में कॉन्टैक्ट लेंस टेक्नॉलजी में हुई प्रगति की बदौलत, लगभग हर व्यक्ति कॉन्टैक्ट लेंस पहन सकता है।

उदाहरण के लिए, प्रेसबायोपिया से ग्रस्त लोगों के लिए कई बाईफ़ोकल कॉन्टैक्ट लेंस उपलब्ध हैं; बहुत से नर्म, कठोर और हायब्रिड कॉन्टैक्ट लेंस उपलब्ध हैं जो एस्टिग्मेटिज़्म (दृष्टि विषमता) को ठीक करते हैं; और कस्टम कॉन्टैक्ट लेंस भी तो हैं जो सबसे चुनौतीपूर्ण प्रेस्क्रिप्शन को भी संतुष्ट कर सकते हैं।

यदि आपको यह बताया गया है कि आप कॉन्टैक्ट लेंस नहीं पहन सकते, तो समय आ गया है कि आप यह प्रश्न दोबारा पूछें। कॉन्टैक्ट लेंस पहन पाने की आपकी संभावना, आपकी सोच से कहीं बेहतर हो सकती है!

2. कॉन्टैक्ट लेंस आपकी आंख के पीछे जा कर खो सकता है।

ऐसा असंभव है।  कंजंक्टाइवा नामक एक पतली सी झिल्ली आपकी आंख के सफ़ेद भाग को ढके रहती है और आपकी पलकों के अंदर वाले भाग से जुड़ी होती है, जिससे कॉन्टैक्ट लेंस के लिए आपकी आंख के पीछे जाकर खो जाना असंभव हो जाता है।

3. कॉन्टैक्ट लेंस आरामदेह नहीं होते हैं।

झूठ। शुरुआत में इन्हें अपनाने में थोड़ा समय लगता है, पर उसके बाद अधिकांश लोगों को तो महसूस भी नहीं होता कि वे कॉन्टैक्ट लेंस पहने हुए हैं।

यदि आपको कॉन्टैक्ट लेंस से असुविधा हो, तो आपके आंखों के डॉक्टर लगभग हमेशा ही कारण ढूंढ कर समस्या ख़त्म कर देते हैं।

4. कॉन्टैक्ट लेंस आपकी आंख पर हमेशा के लिए अटक सकता है।

यह सच है कि यदि नर्म कॉन्टैक्ट लेंस पूरी तरह सूख जाए, तो वह आपकी आंख पर अटक सकता है। पर स्टेराइल सलाइन या मल्टीपरपज़ कॉन्टैक्ट लेंस घोल का उपयोग करके लेंस को दोबारा नम कर देने से वह फिर से खिसकने लायक हो जाता है।

5. कॉन्टैक्ट लेंस की देखभाल एक बड़ा झंझट है।

यदि आप कॉन्टैक्ट लेंस की देखभाल की जहमत नहीं उठाना चाहते, तो दैनिक डिस्पोज़ेबल कॉन्टैक्ट लेंस चुनें। ये लेंस दिन ख़त्म होने पर फेंक दिए जाते हैं और इन लेंस को किसी देखभाल की ज़रूरत नहीं होती है।

6. कॉन्टैक्ट लेंस पहनने से आंखों की समस्याएं होती हैं।

यह सच है कि कॉन्टैक्ट लेंस पहनने से आंखों की कुछ समस्याओं का जोख़िम बढ़ सकता है। पर यदि आप इस बारे में अपने आंखों के डॉक्टर के निर्देशों का पालन करें कि लेंसों की देखभाल कैसे करनी है, उन्हें कितनी देर तक पहनना है, और उन्हें कितने अंतराल पर बदल देना चाहिए, तो कॉन्टैक्ट लेंस पहनना बहुत सुरक्षित हो जाता है।

7. मैं उन्हें मेरी आंखों में कभी नहीं लगा पाऊंगा/गी।

कॉन्टैक्ट लेंस लगाना और उतारना शुरू-शुरू में कठिन लग सकता है, पर थोड़े धीरज के साथ, लगभग हर कोई कॉन्टैक्ट लेंस लगाना और उतारना बहुत तेज़ी से सीख जाता है।

8. कॉन्टैक्ट लेंस आंखों से निकल कर गिर सकते हैं।

आज के कॉन्टैक्ट लेंस — जिनमें गैस पारगम्य (GP) कॉन्टैक्ट लेंस शामिल हैं — आंख की सतह पर बहुत करीब से फ़िट होते हैं। किसी कॉन्टैक्ट लेंस का अनपेक्षित रूप से पहनने वाले की आंखों से अलग हो जाना बहुत दुर्लभ है।

9. कॉन्टैक्ट लेंस बहुत महंगे होते हैं।

कॉन्टैक्ट लेंस काफ़ी किफ़ायती होते हैं।

10. मेरी कॉन्टैक्ट लेंस पहनने की उम्र निकल चुकी है।

मल्टीफ़ोकल कॉन्टैक्ट लेंस और आंखों में सूखापन के लिए कॉन्टैक्ट लेंस उपलब्ध हो जाने से, बढ़ती उम्र अब कॉन्टैक्ट लेंस पहनने की राह की बाधा नहीं है। अपने डॉक्टर से पूछें कि क्या आप कॉन्टैक्ट लेंस पहन सकते हैं — हो सकता है कि उत्तर आपको चकित कर दे।

Find Eye Doctor

शेड्यूल आई एग्जाम

ऑप्टिशियन खोजें