होम धूप का चश्मा धूप के चश्मों के प्रकार  |  In English

धूप के चश्मों से जुड़े तथ्य एक FAQ एवं खरीदारी मार्गदर्शिका

धूप का चश्मा पहने युवती

यदि धूप से मेरी आंखों को परेशानी नहीं होती है, तो भी क्या मुझे धूप के चश्मे पहनने चाहिए?

हाँ। सूर्य से हानिकारक पराबैंगनी (यूवी) किरणें निकलती हैं, जो आँखों को क्षति पहुंचा सकती हैं। और चूंकि पराबैंगनी किरणें बादलों को भेदकर आगे बढ़ती हैं, ऐसे में एक बदली वाले दिन भी सूर्य की किरणें आपकी आँखों को क्षति पहुंचा सकती हैं। धूप के चश्मे आपकी दृष्टि की सुरक्षा करते हैं.

यूवी किरणें क्या होती हैं?

पराबैंगनी (यूवी) किरणें, प्रकाश की अधिक ऊर्जा वाली, अदृश्य किरणें होती हैं; धूप यूवी का प्रमुख स्रोत होती है।

यूवी किरणों को तीन प्रकारों में विभाजित किया गया है: यूवीए, यूवीबी एवं यूवीसी।

  • यूवीए में दीर्घ तरंगदैर्घ्य होती हैं तथा ये शीशे को आसानी से पार कर जाती हैं; यूवीए आँखों को क्षति पहुंचाती हैं या नहीं इस बारे में विशेषज्ञों की असहमति है।

  • यूवीबी किरणें सबसे अधिक हानिकारक होती हैं, इनसे बचाव के लिए धूप के चश्मे और सनस्क्रीन बहुत जरूरी है; ये शीशे को पार नहीं करती हैं।

  • यूवीसी किरणें पृथ्वी तक नहीं पहुँचती हैं, क्योंकि वायुमंडल इन्हें अवरुद्ध कर देता है।

यूवी किरणें आपकी आँखों को कब प्रभावित करती हैं?

सूर्य की किरणें सुबह 10 बजे से लेकर दोपहर 2 बजे तक सबसे अधिक तेज़ होती हैं, परन्तु ऐसा नहीं है कि यूवी किरणें केवल इसी समय के दौरान आपकी आँखों को नुकसान पहुंचा सकती हैं।

तेज़ चमक और परावर्तन (ग्लेयर एवं रिफ्लेक्शन) के कारण भी आपको परेशानी हो सकती है, इसलिए यदि आप बर्फ, पानी या रेत के आसपास जाने वाले हैं, अथवा आप गाड़ी चलाने जा रहे हैं (विंडस्क्रीन तेज़ चमक (ग्लेयर) का एक प्रमुख स्रोत होता है), तो अपने धूप के चश्मे तैयार रखें।

सनलैम्प्स, टैनिंग बेड्स, प्रकाशसंश्लेषी दवाएं, बहुत अधिक ऊंचाई तथा भूमध्यरेखा की निकटता के चलते भी यूवी विकिरण से आपकी आँखों को क्षति का बहुत अधिक जोखिम होता है।

क्या कुछ विशेष चिकित्सीय समस्याओं के चलते मुझे यूवी किरणों से क्षति का अधिक जोखिम होता है?

हाँ। मोतियाबिंद (और जिन लोगों ने मोतियाबिंद की सर्जरी करवाई है)के कारण हो सकती हैं, अथवा रेटिनल डिस्ट्रोफीज से पीड़ित लोगों को अतिरिक्त सावधान रहना चाहिए।

मेरी आँखों को यूवी क्षति से बचाने के लिए मेरे पास क्या विकल्प हैं?

आपको ऐसे चश्मे पहनने चाहिए जो यूवी किरणों को 100 प्रतिशत रोकते हों, यह आपकी आँखों को धूप से बचाने का सबसे अच्छा तरीका है।

कुछ कॉन्टैक्ट लेंस भी यूवी सुरक्षा प्रदान करते हैं, परन्तु चूंकि वे आपकी पूरी आँख को कवर नहीं करते हैं, इसलिए आपको धूप के चश्मे की आवश्यकता होती है।

आप अपने धूप के चश्मे से आसपास के हिस्से को भी ढंक सकते हैं, ताकि हानिकारक यूवी किरणें फ्रेम के माध्यम से अन्दर ना जाने पाएं।

कौन से भिन्न प्रकार के सनग्लास लेंस उपलब्ध हैं?

चूंकि आजकल बाजार में बहुत से लेंस उपलब्ध हैं, इसलिए धूप के चश्मे चुनते समय अपने नेत्र चिकित्सक की सलाह लेना आपके लिए बेहतर रहेगा। विशेष स्थितियों में भिन्न टिंट आपकेा बेहतर तरीके से देखने में सहायता कर सकते हैं, ऐसे में आपके ऑप्टीशियन आपकी जरूरतों के अनुसार सबसे अनुकूल सनग्लास टिंट चुनने में आपकी सहायता कर सकते हैं।

पोलराइज़्ड लेंस पोलराइज़्ड लेंस वाले धूप के चश्मे अधिक सहजता प्रदान करते हैं, क्योंकि वे सपाट सतह से परावर्तित होने वाले चमकदार प्रकाश की तेज़ चमक को कम कर देते हैं। 

एंटी-रिफ़्लेक्टिव कोटिंग। ऐसे धूप के चश्मे जिनमें लेंस के पार्श्व भाग में एंटी-रिफ़्लेक्टिव कोटिंग की गई होती है, वे आपके धूप के चश्मे की पार्श्व सतह से परावर्तित होने वाले प्रकाश को रोकने के द्वारा तेज़ चमक को कम करते हैं।

मिरर-कोटेड लेंस आपकी आँखों में प्रवेश करने वाले प्रकाश की मात्रा को सीमित करते हैं, ताकि आप अधिक सहज रहें।

मिरर कोटिंग (जिसे फ्लैश कोटिंग भी कहते हैं) अत्यधिक परावर्ती कोटिंग होती है, जिसे सनग्लास लेंस की अग्र सतह पर लगाया जाता है, ताकि आँख में प्रवेश करने वाले प्रकाश की मात्र को कम किया जा सके। इसके चलते ये तेज़ प्रकाश वाली स्थितियों की गतिविधियों के लिए विशेष रूप से लाभदायक होते हैं, जैसे कि एक तेज़ धूप वाले दिन स्नो स्कीइंग करना।

ग्रेडिएंट लेंस को ऊपर से नीचे की ओर टिंट किया जाता है, ताकि लेंस का ऊपरी हिस्सा सबसे अधिक डार्क रहे। ये लेंस गाड़ी चलाने के लिए बहुत अच्छे होते हैं, क्योंकि ये आपकी आँखों को ओवरहेड सनलाइट से बचाते हैं, और लेंस के निचले आधे हिस्से से अधिक प्रकाश आने देते हैं, ताकि आप डैशबोर्ड को अधिक सुस्पष्टता के साथ देख सकें।

डबल ग्रेडिएंट का अर्थ होता है वे ग्रेडिएंट लेंस, जिनमें लेंस का ऊपरी और निचला भाग डार्क होता है, और लेंस के बीच के हिस्से में हल्का टिंट होता है। यदि आप ऐसे धूप के चश्मे चाहते हैं जो बहुत अधिक डार्क ना हों परन्तु ओवरहेड धूप, तथा बालू, पानी एवं आपके पैर की तरफ की अन्य परावर्ती सतहों से परावर्तित होने वाले प्रकाश से आपकी आँखों की सुरक्षा करें, तो ऐसे में डबल ग्रेडिएंट लेंस एक बहुत अच्छा विकल्प होंगे।

फ़ोटोक्रोमिक लेंस उन पर पड़ने वाले यूवी प्रकाश की मात्र के आधार पर डार्कनेस के स्तर को समायोजित करते हैं। फ़ोटोक्रोमिक लेंस के बारे में और अधिक जानें.

मल्टीफोकल धूप के चश्मे। क्या आपकी आयु 40 वर्ष से अधिक है और आपको प्रेसबायोपिया (जरा दूरदृष्टि) की समस्या है? कोई समस्या नहीं है। प्रोग्रेसिव लेंस, बाईफोकल या ट्राईफोकल के साथ लगभग किसी भी प्रकार केधूप के चश्मे बनाए जा सकते हैं।

क्या मुझे इन्फ्रारेड किरणों की चिंता करने की जरूरत है?

इन्फ्रारेड किरणें, दिखाई पड़ने वाले प्रकाश वर्णकम के लाल भाग के ठीक पीछे स्थित होती हैं। हालांकि इन्फ्रारेड विकिरण ऊष्मा उत्पन्न करता है (“हीट लैम्प” जो रेस्टोरेंट में खाना गर्म करते हैं, वे आईआर किरणें उत्सर्जित करते हैं), परन्तु अधिकांश विशेषज्ञों की सहमति है कि सूर्य का इन्फ्रारेड विकिरण आँखों के लिए खतरा नहीं उत्पन्न करता है।

धूप के चश्मे का कौन सा रंग सबसे अच्छा है?

लेंस का रंग एक व्यक्तिगत पसंद है, और इससे इस बात पर कोई असर नहीं पड़ता है कि सनग्लास लेंस आपकी आँखों को यूवी किरणों से कितनी अच्छी तरह से बचाएगा। ग्रे और ब्राउन सबसे अधिक लोकप्रिय हैं, क्योंकि वे रंग बोध को सबसे कम विरूपित करते हैं।

एथलीट्स प्राय: दूसरे टिंट्स को उनकी कंट्रास्ट को बेहतर बनाने वाले गुणों के चलते प्राथमिकता देते हैं। उदाहरण के लिए, स्कीइंग करने वालों और टारगेट शूटर्स में पीले लेंस बहुत लोकप्रिय हैं, क्योंकि वे कम प्रकाश में भी अच्छे से काम करते हैं, धुंध को कम करते हैं, तथा एक अधिक शार्प इमेज के लिए कंट्रास्ट बढ़ाते हैं।

क्या आघात-प्रतिरोधी लेंस आवश्यक हैं?

सहजता और सुरक्षा के लिए, ऐसे सनग्लास लेंस चुनें जो आघात-प्रतिरोधी एवं खरोंच-प्रतिरोधी दोनों ही हों। पॉलीकार्बोनेट लेंस आमतौर पर धूप के चश्मों के लिए सबसे अच्छे विकल्प होते हैं, क्योंकि ये वजन में हल्के होते हैं, तथा कांच या अन्य सामग्रियों से बने लेंस की तुलना में बहुत अधिक आघात-प्रतिरोधी होते हैं।

क्या हल्के रंग के टिंट वाले लेंस की तुलना में डार्क रंग वाले सनग्लास टिंट अधिक यूवी सुरक्षा प्रदान करते हैं?

हल्के रंग के टिंट वाले लेंस की तुलना में अधिक डार्क धूप के चश्मे, लेंस से होकर गुजरने वाले दृश्य प्रकाश की मात्रा कम कर देते हैं, परन्तु ऐसा जरूरी नहीं है कि वे अदृश्य यूवी किरणों से बेहतर सुरक्षा प्रदान करें। धूप से पर्याप्त सुरक्षा के लिए सुनिश्चित करें कि आपके धूप के चश्मे यूवी किरणों को 100 प्रतिशत अवरुद्ध करते हों, फिर लेंस का रंग या डार्कनेस चाहे जो भी हो।

क्या बच्चों को धूप के चश्मों की जरूरत है?

बच्चों के लिए धूप के चश्मे जरूरी हैं। बच्चों को अधिक जोखिम होता है, क्योंकि वयस्कों की तुलना में वे अधिक समय तक धूप में रहते हैं, और उनकी आँखें भी अधिक संवेदनशील होती हैं। यूवी क्षति किसी व्यक्ति के जीवनकाल के दौरान संचित होती हैं, इसका अर्थ है कि आपको अपने बच्चे की आँख की सुरक्षा यथाशीघ्र शुरू कर देनी चाहिए।

मैं चश्मा लगाता हूँ। मेरे लिए कौन से विकल्प उपलब्ध हैं?

फ़ोटोक्रोमिक लेंस घर से बाहर निकलने पर धूप से सुरक्षा के लिए बहुत अच्छा विकल्प हैं, यदि आपको सुधारात्मक लेंस चाहिए हों तो। ये सूर्य की यूवी किरणों से 100 प्रतिशत सुरक्षा प्रदान करते हैं, और धूप में अपने आप डार्क हो जाते हैं। बहुत से मामलों में फोटोक्रोमिक लेंस अलग से प्रिस्क्रिप्शन सनग्लासेज की जरूरत को भी दूर कर सकते हैं।

क्या विशिष्ट खेलों के लिए बनाए गए धूप के चश्मों से कोई अन्तर पड़ता है?

हाँ। स्पोर्ट सनग्लासेस आमतौर पर नियमित धूप के चश्मों से अधिक सुरक्षित होते हैं, क्योंकि उनके लेंस और फ्रेम विशेष सामग्री से बनाए हुए होते हैं, जिनके गिरने पर टूटने की कम सम्भावना होती है, और ये आपको धूप के चश्मों एवं सुरक्षात्मक आईवियर दोनों के लाभ प्रदान कर सकते हैं।

साथ ही, कुछ विशेष टिंट्स, कुछ विशेष खेलों के लिए आपकी दृष्टि को बेहतर भी बना सकते हैं। उदाहरण के लिए गोल्फ खिलाड़ियों में ऐंबर और ब्राउन लेंस काफी लोकप्रिय होते हैं, क्योंकि ये बॉल तथा फेयरवे, हरी घास और आकाश के बीच के कंट्रास्ट को बेहतर बनाते हैं।

Find Eye Doctor

शेड्यूल आई एग्जाम

ऑप्टिशियन खोजें